भारत की 2340 मुस्लिम महिलाओं ने लिया बड़ा निर्णय और कमेटी ने किया सभी का मंजूर

भारत की 2340 मुस्लिम महिलाओं ने लिया बड़ा निर्णय और कमेटी ने किया सभी का मंजूर

इस बार 2340 मुस्लिम महिलाओं ने बड़ा निर्णय लिया है और वह बिना “मेहरम” हज पर जाएँगी. और भारतीय हज समिति ने इन सभी आवेदनों को स्वीकार भी कर लिया है. (Muslim women go hajj without male member)

मेहरम क्या है, मेहरम का मतलब ?

मेहरम मुस्लिम महिलयों के लिए एक नियम है कि वह अगर हज पर जाना चाहे तो उनके साथ किसी पुरुष का होना अनिवार्य है, लेकिन वह ऐसा पुरुष हो जिसके साथ वह विवाह नहीं कर सकती यानी कि उसका बेटा, सगा भाई या पिता.

लेकिन इस बार २३४० मुस्लिम महिलाएं बिना मेहरम के हज पर जा रही है.

कौनसी मुस्लिम महिलाओं से हटी है मेहरम की पाबन्दी

जिन भी महिलाओं की उम्र ४५ वर्ष से अधिक है और वह बिना मेहरम के हज पर जाने के लिए आवेदन दे सकती है. इसका निर्णय भारतीय हज कमेटी करती है कि उन्हें इजाजत मिलेगी या नहीं. इस बार २३४० महिलाओं ने आवेदन किया और सभी का स्वीकार हुआ.


अपने व्हाट्सप्प पर रोजाना मुफ्त में प्रेरणादायक विचार प्राप्त करने के लिए 9803282900 पर व्हाट्सप्प करे.

Leave a Comment