क्या UC NEWS, NEWSDOG से डर गया है?

क्या UC NEWS, NEWSDOG से डर गया है?

दोस्तों NewsDog और UC News दोनों ही भारत की प्रमुख news apps में से है और दोनों ही अपना reader base बढ़ाने में जी-जान से मेहनत कर रहे है।

UC Browser की बदौलत, UC News ने बहुत से readers को attract किया था, लेकिन कुछ समय से NewsDog UC को कड़ी टक्कर दे रहा है। और यह टक्कर इतनी अधिक है कि UC News भी अब तो NewsDog से डर गया लगता है।

UC News NewsDog से क्यों/कैसे डरा?

दोनों ही apps China based है, यानी कि इनके head office China में है। UC News alibaba group के अंदर है, जोकि china के सबसे अमीर ग्रुप्स में से एक है। और UC News ने भारत के अपनी ऐप्प प्रमोट करने के लिए करोड़ो/अरबों ही रुपया इन्वेस्ट किया होगा। इतनी अधिक investmemt के बाद उसने काफी reader base generate किया।

लेकिन NewsDog जोकि Hinterstellar के अंदर है उन्होंने UC के मुकाबले भले ही कम इन्वेस्टमेंट की हो, लेकिन फिर भी इसने भी भारत मे काफी readers को attract किया और आज लाखों users NewsDog का इस्तेमाल कर रहे है।

NewsDog MalaMaal Contest

हाल ही में (कुछ दिन पहले से), NewsDog ने अपनी ऐप्प को प्रमोट करने के लिए Malamaal Contest शुरू किया है, जिसमे न्यूज़डॉग 5,00,000 (5 लाख ) रुपये तक readers में बांट रहा है, वो भी सिर्फ कुछ आसान से सवालों का क्विज करके। दिन में 2 से 3 बार यह क्विज होता है, जिसमे रीडर्स दस हज़ार रुपये से लेकर 5 लाख रुपये तक जीत सकते है, वो भी 12 आसान से सवालों के जवाब देकर। और यह राशि जितने भी लोग जीतेंगे उन सभी मे बांट दी जाती है जोकि Paytm के जरिये उन्हें मिल जाएगी जो जीते होंगे, लेकिन जब कम-से-कम 100 रुपये जीत चुके होंगे।

आखिर कैसे डरा UC News

वैसे तो पहले से ही न्यूज़डॉग के पास काफी रैडर्स है लेकिन फिर भी उसने इस क्विज को चालू करके काफी रैडर्स को attract किया है और शायद काफी uc news के रीडर्स भी न्यूज़डॉग की तरफ आ गए हो। दिन-ब-दिन इस कांटेस्ट को खेलने वालों की संख्या में बढ़ोतरी होती जा रही है और uc ने NewsDog के इसी कांटेस्ट को देखते हुए, इसकी ही नकल करके अपनी ऐप्प पर भी एक ऐसा ही क्विज कांटेस्ट शुरू किया, जिसमे uc भी रीडर्स से 10 सवाल पूछेगा और जितने लोग सही जवाब देंगे वह राशि सभी जीतने वालों में बांट दी जाएगी।

यह कांटेस्ट एक तरह से हू-ब-हू NewsDog की नकल है। लेकिन फिर भी अगर देखा जाए तो NewsDog ही अच्छा प्रदर्शन कर रहा है और uc news के मुकाबले काफी कम investment करके भी uc news को बहुत टक्कर दे रहा है, और अनुमान तो यहां तक है कि अब newsdog के readers uc से काफी अधिक है। UC का news रीडर, उसके ब्राउज़र की वजह से है जोकि भारत मे सबसे लोकप्रिय ब्राउज़र में से एक है।

आखिर NewsDog और UC News का ही competition हमने क्यों बताया?

दोस्तों भारत मे कुछ चुनिंदा news apps ही है, जो काफी लोकप्रिय है, लेकिन जैसा कि हमने बताया यह दोनों china based है, तो इनमें आपस मे कुछ ज्यादा ही होड़ लगी रहती है आगे निकलने की और uc वैसे भी china की सबसे अमीर company में से एक होने के कारण काफी इन्वेस्ट कर रही है अपनी ऐप्प को बढ़ाने कब लिए । और Newsdog भी चीन की होने के कारण कम इन्वेस्टमेंट में ही (uc के मुकाबले कम) काफी readers खींच चुकी है, जिस कारण सिर्फ इन दोनों apps के कम्पटीशन का ही बताया।

वैसे एक कम्पटीशन (यह थोड़ा अलग है) तो DailyHunt ने भी शुरू किया है, जिसको सबसे अधिक यूज़र्स पढ़ते है, लेकिन uc और newsdog में तो आपस का ही काफी कम्पटीशन है।

कौन होगा बेस्ट

NewsDog या फिर UC News देखते है कौन होगा बेस्ट? पर बेस्ट वही होगा जो खेल के इलावा users को काफी बढ़िया-बढ़िया खबरें भी दे पाएगा और उनकी नॉलेज बढ़ाने पर भी ध्यान देगा। क्योंकि नॉलेज पैसों से कही ऊपर होती है। पर फिलहाल तो NewsDog ही आगे जा रहा लगता है।

दोस्तों, आपको कौन-सी न्यूज़ ऐप्प सबसे अधिक पसन्द है, कमेंट करके हमे जरूर बताएं।


SocialBhai App डाउनलोड करे

हर तरह के updates प्राप्त करने के लिए 9803282900 पर अपना नाम और city लिखकर whatsapp पर message भेजे। आपको whatsapp broadcast में join कर लिया जाएगा।

Leave a Comment